Tuesday, November 12, 2019

वरदान का फल बहुत समय पहले की बात है।

विमल नाम का माली एक गांव में रहता था। 

1 दिन विमल बाद में काम कर रहा था तभी उसने किसी के चिल्लाने की आवाज सुननी है यह बोलना आदमी फव्वारे में डूब रहा था बोलना आदमी चिल्ला रहा था बचाओ बचाओ।
विमल नेम बोने आदमी को पानी से बाहर निकाल लिया बोलना आदमी खुश हुआ।
बोलना बोला तुमने मेरी जान बचाई है इसलिए मैं तुम्हारी एक इच्छा पूरी करने का वचन देता हूं विमल सोचने लगा आखिर क्या मांगू विमल बोला मैं अपने घरवालों से सलाम मसूरी करके कल अपना वरदान मांग लूंगा।

विमल शाम को अपने घर पहुंचा उसने अपने पिता से पूछा पिता बोला बेटा मैं अंधा हूं।

तुम बोलने से मेरे लिए आंखें मांग लो।
विमल ने अपनी मां से पूछा मां बोली बेटा तुम उससे अपने लिए धन मांग लो ताकि हमारी गरीबी दूर हो जाए।
विमल ने अपनी पत्नी से पूछा पत्नी बोली हमारी शादी के कई साल हो गए पर हमारी कोई संतान नहीं है इसलिए तुम वरदान में अपने लिए एक पुत्र मांग लो विमल रात भर सोचता रहा।
अंत में उसे एक उपाय सूची गया दूसरे दिन विमल फिर बगीचे में गया बोल ना बोला मांगू माली मैं तुम्हें इच्छा पूरी करने को तैयार हूं।

विमल बोला मेरी इच्छा यही है कि मेरे पिताजी मेरे बेटे को सोने के कटोरा में दूध पीता हुआ देखें। 

बोलना बोलना ठीक है ऐसा ही होगा।
1 साल बाद विमल की तीनों इच्छा एक साथ पूरी होगी इस प्रकार विमल ने अपनी सूझबूझ से वरदान में तीनों ही चीजें एक साथ मांग ली।

No comments:

Post a Comment