Tuesday, November 12, 2019

हमारे राष्ट्रीय पिता महात्मा गांधी।

हमारे राष्ट्रीय पिता महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। 

और उनका जन्म दो अक्टूबर को गुजरात के पोरबंदर नामक स्थान पर हुआ था इनके पिता का नाम करमचंद और माता का नाम पुतलीबाई था।
इंटरव्यू छोटी उम्र में ही कस्तूरी बाई के साथ हो गया था उनका सेवा बहुत सीधा-साधा हुआ चरित्र बहुत ऊंचा था गांधी जी ने अपना शिक्षा भारत में ही पूरी की और फिर वकालत पास करने के लिए इंग्लैंड चले गए।

वकालत पास करने के बाद भारत आइए भारत आकर उन्होंने मुंबई में वकालत आरंभ की। 

फिर भी वकालत करने दक्षिण अफ्रीका चले गए वहां भारतीयों के अधिकारियों के लिए वह गोरे लोगों से लड़ते रहे। अंग्रेजों से लगातार संघर्ष करके उन्होंने अपने देश को स्वतंत्रता दिलाई इसके लिए वे कई बार जेल गए अनंत में अपना उद्देश्य पूरा करके ही छोड़ा। गांधीजी अहिंसा वादी थे वे सदा सच बोलते थे वे अपने अधिकारों को पाने के लिए सत्याग्रह करते थे गांधीजी ने छुआछूत का विरोध किया

और हरिजनों को समान अधिकार दिलाया। 

गांधीजी बहुत सादगी से रहते थे वे केवल शादी की धोती लपेट ते रहते थे रोजाना चरका कहते थे और अपना काम अपने हाथों से ही करते थे।
 और नाथूराम गोडसे नामक व्यक्ति ने उन्हें गोली मार दी आज भी हम प्रतिवर्ष 30 जनवरी को 11 बजे ईश्वर से उनकी आत्मा को शांति प्रदान करने की प्रार्थना करते हैं तथा 2 मिनट के लिए मौन साधना रहते हैं।

No comments:

Post a Comment