Tuesday, September 24, 2019

पापा ये सफल जीवन क्या होता है।

शिवराज सिंह चौहान ने भिंड पुलिस की कार्यशैली पर उठाए सवाल युवा मोर्चा भिण्ड के रक्षपाल की दोनों बेटियों के साथ बैठकर पत्रकार बंधुओं से की चर्चा । 

युवा मोर्चा भिंड के रक्षपाल को गणेश विसर्जन के दौरान पुलिस ने बिना विवाद के पीटा रक्षपाल की बेटियों के सामने पुलिस महकमे के रोहित और संजय सोनी ने रक्षपाल की अकारण बेरहमी से पिटाई की । पुलिस द्वारा व्यपवर्तन क्षेत्र होने के कारण धारा 11, 13 लगाई गई है जिसके अंतर्गत डकैती अपहरण जैसे अपराध आते है । पूस थाने द्वारा सरकारी डॉक्टर और अस्पताल पर भी दबाब बनाकर रक्षपाल की मेडिकल रिपोर्ट से भी छेड़छाड़ की गई है । मैं कमलनाथ जी से पूछना चाहता हूँ कि मध्य प्रदेश में क्या चल रहा है ?
हम यह अन्याय नहीं सहेंगे , लोकतंत्र में इसकी इजाजत नहीं है । सरकार दोषी पुलिस कर्मियों पर कार्यवाही करें नहीं तो हम सड़क पर प्रदर्शन करेंगे ।
एक बेटे ने पिता से पूछा-
पापा.. ये 'सफल जीवन' क्या होता है ?

पिता, बेटे को पतंग  उड़ाने ले गए। 

बेटा पिता को ध्यान से पतंग उड़ाते देख रहा था.

थोड़ी देर बाद बेटा बोला-
पापा.. ये धागे की वजह से पतंग अपनी आजादी से और ऊपर की और नहीं जा पा रही है, क्या हम इसे तोड़ दें !  ये और ऊपर चली जाएगी....

 पिता ने धागा तोड़ दिया ..

पतंग थोड़ा सा और ऊपर गई और उसके बाद लहरा कर नीचे आयी और दूर अनजान जगह पर जा कर गिर गई.

तब पिता ने बेटे को जीवन का दर्शन समझाया...


बेटा..
'जिंदगी में हम जिस ऊंचाई पर हैं..
हमें अक्सर लगता की कुछ चीजें, जिनसे हम बंधे हैं वे हमें और ऊपर जाने से रोक रही हैं
जैसे :और हम उनसे आजाद होना चाहते हैं. वास्तव में यही वो धागे होते हैं जो हमें उस ऊंचाई पर बना के रखते हैं.

No comments:

Post a Comment