Sunday, 4 August 2019

हम सभी ने समान मूल्यों को ग्रहण किया है।

इस परिवार में आऊंगा अपने क्षमता को विकसित करते हैं।

एक सुंदर मनोहर सुबह के समय गर्म चाय की प्याली के साथ-साथ एक समाचार पत्र भी मिल जाए तो उससे बेहतर कुछ नहीं है। 
यह एक बहुत अच्छा गुण है, जो बहुत कम दिखाई देता है वह उस बैग से रोककर निकाल कर दिया बेवकूफी सकता था किंतु उसने ऐसा नहीं किया उसके विवेक ने उसे ऐसा नहीं करने दिया और उसे सही निर्णय लिया ईमानदारी व मूल्य है जो ऑफिस के पास है आप यह सोच रहे होंगे कि मुरली क्या होता है।
यह कहां से आता है क्या मूल्य नैतिकता से भिन्न होता है। और ऐसा ही एक सवाल आपके मन में घूम रहे होंगे तो आपको सब कुछ इस में पता चल जाएगा।

आप रोजाना समाचार पत्रों में अनेक प्रकार की खबर पढ़ते हैं। 

जिससे भ्रष्टाचार खाद्य मिलावट अपहरण हिंसा तथा अत्यधिक आदि हमारे समाज को यह क्या हो रहा है लोग अपनी चेतना को मारकर पैसा के पीछे क्यों भाग रहे हैं हमारे समाज में मूल्य धीरे-धीरे समाप्त होती जा रही है। कुछ लोग अनैतिक माध्यमिक उसे संपन्नता प्राप्त कर रहे हैं आपने समाज में हमें ऐसे क्यों होने दे रहे हैं हम अपने समाज के इस पतन को रोकने के लिए मिलकर प्रयास क्यों नहीं कर रहे हैं। इसके लिए यह अत्यंत आवश्यक है कि हम वैसे हर व्यक्ति जीवन के हर क्षेत्र में मूल्यों का अनुसरण करें यदि इस मूल्य का अनुसरण नहीं किया जाए तो हमारे समाज का क्या होगा आप ऐसे ही अनेक प्रश्नों के बारे में विचार विमर्श कर सकते हैं।
यदि समाज के सभी सदस्य मूल्यों तथा नैतिकता का अनुसरण नहीं करें उन्हें तो समाज में पूर्ण रूप से संतुलन तथा व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न हो सकती है।

हम सभी एक परिवार में रहते हैं जो व्यक्तित्व रूप से हमारा पोषण करते हैं। 

 एक दूसरे को स्नेह देते हैं प्राप्त करते हैं परिवारिक जीवन व्यक्ति को स्वस्थ संबंध स्थापित करना देता हूं उन ने बनाए रखने का अवसर प्रदान करता है परिवार में व्यक्ति महत्वपूर्ण सामाजिक कौशल जैसे दूसरों की देखरेख करना वस्तुओं को दूसरों के साथ बांटना तथा शांति को भी शिक्षित करता है।
जब अंकिता दोपहर में घर वापस आए तो उसकी मां ने उससे पूछा कि सुबह के अनुभव के बारे में उसे कैसा लगा।

No comments:

Post a Comment