Saturday, 29 June 2019

युद्ध के बाद हुई मैया को भारत से पलायन करना पड़ा।

गुजरात के बहादुर साधने में चित्तौड़ का घेरा डाला।

रानी कर्णावती राणा सांगा की पत्नी ने ह्यूम आयु का राखी भेजकर सहायता मांगी किंतु हमारे आने में विलंब किया। फलस्वरूप चित्तौड़ पर बहादुर संस्था का अधिकार हो गया, एवं शासकीय  चौसा का युद्ध हुआ इस युद्ध में पराजित हो गया। में हुमायूं ने अपने भारत का विजय अभिमान प्रमाणित किया, और सर्वप्रथम लोहार पर कब्जा किया। उसने सिकंदरपुर के मछीवाड़ा के युद्ध में पराजित कर बंद पंजाब की अधिकार कर लिया। को हिमायू दिल्ली की गद्दी पर बैठा।  को जब हुमायूं दिन पता नी स्तुति पुस्तकालय की सीढ़ियों से उतर रहा था। तो उसका पैर फिसल गया।  जनवरी को उसकी मृत्यु हो गई सुर साम्राज्य का संस्थापक था।

यह जान पूर्ण राज्य के अंतर्गत से सारा सर बिहार का जमींदार का था। 

फरीद को बचाने शितोले मावे भाइयों के कारण सुखी नहीं था। वह दक्षिणी बिहार के प्रति बकाए का लोहानी की सेना में चला गया। इसी ने फरीद द्वारा शेर मार दिए। जाने के कारण सरंगा की उत्पन्न प्रकार की में कन्नौज के युद्ध के बाद हुई मैया को भारत से पलायन करना पड़ा।
 और इस प्रकार से साहेब को भारत का सिहासन प्राप्त हुआ। सम्राट बनने के बाद शेरशाह ने बंगाल ग्वार लिए। और मानव पर विजय प्राप्त की  में शेरशाह ने गिरी सुमेल का युद्ध में मारवाड़ साहेब राव मालदेव को पराजित किया शेरशाह ने रावण से युद्ध बड़ी मुश्किल से जीता क्योंकि मालदेव के सेनानायक जेता व्यकुंता ने वीरता पूर्वक संघर्ष किया तभी शेरशाह ने कहा था। मैं मुट्ठी भर बाजरे के लिए हिंदुस्तान की सूचना को देता में कालिंजर के किले पर आक्रमण के दौरान बारूद में विस्फोट होने में शेरशाह की मृत्यु हो गया।
अपने शासन प्रबंध और किए गए। कार्यों की दृष्टि से शेरशाह मध्यकालीन शासकों में एक विशेष स्थान रखता है।

बड़ी बड़ी सड़कों का निर्माण करवाया सासाराम का मकबरा भारत की सबसे बड़ी इमारतों में एक है।

अकबर का जन्म अमरकोट सिंध में राणा वर्षफल के महल में  ईसवी को हुआ था उसके पिता हिमायू और माता अमिता मनु बेगम ने यहां के राजपूत राजा के महल में शरण ली थी । को हनुमान जी की मृत्यु के बाद अकबर दिल्ली का शासक बन गया, मर गया  प्रधानमंत्री बन गया।

No comments:

Post a Comment